‘कांग्रेस दोहरे चरित्र वाली पार्टी है’

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता प्रकाश जावड़ेकर ने हिमांशु शेखर को बताया कि कांग्रेस के साथ मिलीभगत के आरोप बेबुनियाद हैं. उन्होंने बताया, ‘यह आरोप बिल्कुल बेबुनियाद है कि भाजपा और कांग्रेस में गुपचुप तरीके से कोई समझौता हो गया है। अगर ऐसा होता तो हम संसद से लेकर सड़क तक ये मामले इतनी मजबूती के साथ नहीं उठाते। हमारे पार्टी के नेता संसद में ये मामले उठा रहे हैं और कार्यकर्ता न सिर्फ दिल्ली में बल्कि देश के दूसरे हिस्सों में महंगाई के मसले पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। पार्टी गृह मंत्री पी. चिदंबरम का इस्तीफा मांग रही है। अगर भाजपा और कांग्रेस मिली होती तो ये सब नहीं होता।’

The curious case of Bihar

Both parties know very well that they need each other to gain power in Bihar and to show the strength at center. That’s why JDU chief Sharad Yadav is trying to work as a peacemaker and saying all is well. At the core of this development is the different identity of both parties and they want to maintain it on the best possible cost. Anti Modi tone of Nitish is required to allure Bihar’s 16.5 percent Muslim votes. In other hand, Brand Modi is the necessity of BJP to woo its core Hindu voters. Assembly election in Bihar is slated for this year and experts believe that cast and communal politics is going to play a major role in these polls.